Meri jindagi ka | Love Shayari

Meri jindagi ka | Love Shayari

Meri jindagi ka | Love Shayari | Love Shayar

Meri jindagi ka sabse 
Haseen pal bhi tum Ho 
Meri har mushkil ka hal 
Bhi tum Ho
Mai kabhi parvah nhi karta 
Kisi aur ki kyuki 
Mera aaj bhi tum Ho 
Mera kal bhi tum Ho 

मेरी जिंदगी का सबसे 
हसीन पल भी तुम हो 
मेरी हर मुश्किल का हल 
भी तुम हो
मै कभी परवाह नही करता 
किसी और की क्युकी 
मेरा आज भी तुम हो 
मेरा कल भी तुम हो

Post a Comment

0 Comments